प्यार दोबारा शुरु हो गया

Spread the love

[ A+ ] /[ A- ]

Font Size » Large | Small


Antarvasna, sex stories in hindi:

Pyar dobara shuru ho gaya मेरा नाम शिवम है मैं पुणे का रहने वाला हूं मेरी शादी को हुए अभी सिर्फ एक साल ही हुआ था। मेरी और पायल की लव मैरिज है पायल मुझे एक इवेंट के दौरान मिली थी तब से हमारी प्रेम कहानी शुरू हुई। पायल ने ही मुझे शादी के लिए प्रपोज किया था और मैं भी पायल से शादी करने को तैयार हो गया क्योंकि पायल एक अच्छी लड़की है। पायल से शादी करके मैं बहुत खुश था परन्तु मुझे अंदर ही अंदर यह बात खाये जा रही थी की मैंने पायल से अपनी सच्चाई छुपाई है। आज से पांच छै साल पहले मेरी शादी पारुल से हुई थी मेरी और पारुल की शादी हमारे घर वालो की मर्जी से हुई थी। पारुल से शादी करके मैं बहुत खुश था मुझे पारुल से कोई शिकायत नही थी परन्तु पारुल ने मुझे धोखा दिया वह किसी लड़के के साथ शादी करके चली गयी। वह लड़का पारुल के साथ ऑफिस में काम करता था पारुल पहले से ही जॉब करती थी तो मुझे शादी के बाद भी उसके जॉब करने से कोई परेशानी नही थी परन्तु मुझे क्या पता था कि पारुल मेरे साथ ऐसा करेगी। मैंने कभी सपने में भी नही सोचा था कि पारुल ऐसा भी कर सकती है मैंने पारुल के लिए हर वह चीज करी जो वह चाहती थी ताकि पारुल हमेशा खुश रहे।

मेरे परिवार वालो ने भी पारुल को अपनी बेटी जैसा माना लेकिन पारुल ने हम सबके साथ इतना बड़ा धोखा किया। यदि पारुल मुझे इस बारे में पहले बता देती तो यह नौबत ही नही आती मैं पहले ही पारुल से शादी करने से मना कर देता परन्तु उसने मुझे यह बात पहले नही बताई। मुझे हमेशा ही इस बात का दुख था कि पारुल ने मेरे साथ ऐसा क्यों किया जबकि मैंने उसे कभी कोई कमी नही होने दी। मैंने और मेरे परिवार ने उसे पूरा प्यार दिया उसके बावजूद भी वह हमारे प्यार को समझ ना सकी और घर छोड़ कर चली गयी। यह बात मैंने पायल को नही बताई थी मैं उसे यह बात शादी से पहले बताना तो चाहता था लेकिन मुझे कभी सही मौका ही नही मिला। मैंने पायल को अपनी पुरानी जिंदगी के बारे में बताने की कोशिश तो कई बार की थी लेकिन लेकिन मेरी हिम्मत नही हो पा रही थी मुझे डर था कि कहीं पायल भी मुझे छोड़कर चली ना जाये इस वजह से मैं उसे कुछ बता ना पाया। समय ऐसे ही बीतता जा रहा था और मेरी परेशानी भी बढ़ती चली जा रही थी।

loading...

अब मैने फैसला कर लिया था कि मैं पायल को सब कुछ बता दूंगा लेकिन मैंने सोचा कि यह बात मैं पायल से घर पर नही करूँगा बल्कि कहीं बाहर अकेले में करूँगा। एक दिन मैंने पायल से कहा कि पायल आज हम लोग कहीं बाहर घूम आते है पायल भी मेरे साथ चलने को तैयार हो गयी। वह बहुत खुश थी लेकिन उसकी उसकी खुशी ज्यादा देर तक नही रही। मैं पायल को मूवी दिखाने ले गया उसके बाद मैं और पायल एक पार्क में बैठ गए वहीं पर मैंने पायल को सब सच बताने की सोची। मैंने जब पायल को पारुल के बारे में बताया तो वह मुझ पर बहुत गुस्सा हुई मैंने पायल को बताया कि इसमें मेरी कोई गलती नही थी। पायल कहने लगी कि तुम्हे यह सब बातें मुझे पहले बता देनी चाहिए थी तुमने मुझे इतने समय तक धोखे में रखा। पायल का गुस्सा सातवें आसमा पर था पायल को मनाना मेरे लिए उस वक्त बहुत ही मुश्किल था। जब हम लोग घर पहुंचे तो पायल बड़े ही गुस्से में थी वह सीधे रूम में चली गयी मेरी माँ ने मुझसे पूछा कि पायल को आज क्या हो गया है वह बड़े गुस्से में लग रही थी। मैंने मां से कहा कि मां मैने पायल को अपनी पहली शादी के बारे में बता दिया है इस वजह से वह मुझसे नाराज है। मेरे पिताजी कहने लगे कि मैने तो तुम्हे पहले ही कह दिया था कि पायल को शादी से पहले सब बता दो लेकिन तुम ही मेरी बात नही माने। मैंने पिताजी से कहा कि मैंने तो पायल को खो देने के डर से उससे कुछ नही कहा था लेकिन मुझे यह बात परेशान किये जा रही थी इसलिए मैंने उसे सब बता दिया मैं उसे और धोखे में नही रखना चाहता था। मैं पायल को बहुत प्यार करता हूँ परन्तु मेरे सामने समस्या यह थी कि मैं पायल को कैसे मनाऊं। जब मैं कमरे में गया तो मैंने सोचा कि मैं पायल से इस बारे में बात करता हूँ लेकिन पायल ने मुझसे बात नही की और अगले दिन सुबह ही वह अपने मम्मी पापा के पास चली गयी। मैंने उसे कई फोन भी किये लेकिन उसने मेरा फोन ही नही उठाया वह मुझसे बात ही नही करना चाहती थी।

पायल कुछ दिनों तक अपने घर पर ही थी उसने मुझसे बात नहीं की थी मैं चाहता था पायल से मै बात करूं लेकिन उससे मेरी बात हो ही नहीं हो पाई थी। मैं उसको लेने के लिए उसके घर पर गया वह मुझ पर बहुत गुस्सा थी मैंने उसे किसी तरीके से मनाने की कोशिश की लेकिन वह मेरी बात नहीं मानी फिर मैंने उसे गले लगा लिया। जब मैंने उसे गले लगाया तो मैंने पायल को कहा देखो पायल मुझे मालूम है मुझसे गलती हुई है लेकिन मैं उसके लिए तुमसे माफी भी मांगना चाहता हूं मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। मुझे लगा था अगर मैं तुम्हें यह सब बात बताऊंगा तो कहीं मैं तुम्हें खो ना दूं तुम्हें खो जाने के डर से ही मैंने तुम्हें कुछ नहीं बताया। पायल मुझे कहने लगी अगर तुम मुझे पहले ही सब कुछ सच बता देता तो मुझे इतना बुरा नहीं लगता लेकिन तुमने मुझसे यह बात छुपा कर रखी। मैंने पायल से कहा पायल तुम मेरे साथ घर चलो उसके बाद तुम्हें जो कहना है तुम कह लेना। पायल पहले तो मेरी बात नहीं मानी लेकिन मेरे कहने पर वह मेरी बात मानी। हम लोग घर वापस लौट आए थे जब हम लोग घर वापस लौटे तो मैं और पायल मेरे रूम में थे कुछ देर तक तो हमने बात नहीं की।

पायल मुझे कहने लगी मुझे तुमसे कुछ बात करनी ही नहीं है मैंने पायल को कहा देखो पायल यह सब भूलकर तुम आगे बढ़ने के बारे में सोचो, इस बारे में मैंने तुम्हे सब कुछ सच बता दिया है। पायल मेरी बात नहीं मान रही थी मैंने उसे गले लगाया और उसके होंठों को चूमना शुरू किया। वह मुझसे अपने आपको दूर करने की कोशिश करने लगी लेकिन जब मैंने उसे अपनी बाहों में दबोच लिया और मै उसके होठों को चूमने लगा तो मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था और उसको भी बहुत अच्छा लगने लगा था। पायल मेरे होठों को बड़े ही अच्छे तरीके से चूम रही थी मैंने उसे बिस्तर पर लेटा कर उसके स्तनों को महसूस करना शुरू किया तो वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है अब मुझे बड़ा अच्छा लगने लगा था और मैंने पायल के कपड़े उतारकर पायल के गोरे स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया तो मेरे अंदर कि आग बढ़ने लगी। पायल भी बहुत ज्यादा उत्तेजित होने लगी थी पायल की उत्तेजना बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी और वह मुझे कहने लगी मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं जा रहा है। पायल की चूत से निकलता हुआ पानी इतना अधिक हो चुका था कि वह अपने आपको बिल्कुल भी रोक नहीं पा रही थी और ना ही मैं अपने आपको रोक पा रहा था। मैंने पायल की चूत पर अपने मोटे लंड को सटाया और अंदर की तरफ घुसा दिया जब मैंने अपने लंड को पायल की योनि के अंदर बाहर करना शुरू किया तो उसको बड़ा ही अच्छा लगने लगा और वह पूरी तरीके से मजे मे आ गई। वह इतनी ज्यादा उत्तेजित हो चुकी थी कि वह कहने लगी मेरे अंदर कि उत्तेजना बहुत ही ज्यादा बढ़ने लगी है। मै बिल्कुल भी रह नहीं पा रहा था पायल ने अपने पैरों को खोलो। जब मैंने पायल के पैरों को खोलो तो मैंने पायल से कहा मैं तुम्हारी चूत को चाटना चाहता हूं।

loading...

पायल ने कुछ नहीं कहा लेकिन जब मैंने उसके गुलाबी चूत को चाटना शुरू किया तो उसकी गर्मी बढ़ने लगी वह मचलने लगी पायल की चूत से बहुत ज्यादा अधिक पानी निकलने लगा था। मैंने पायल के मुंह के अंदर अपने लंड को डाला दिया मेरा लंड पायल के मुंह के अंदर था। मेरा मोटा लंड पायल के मुंह के अंदर गया अब वह मेरे लंड को चूसने लगा मुझे अच्छा लगने लगा। पायल ने अपने पैरों को खोल लिया था जिससे कि उसकी चूत से बहुत अधिक पानी निकलने लगा था। पायल की योनि से पानी बाहर की तरफ को निकाल रहा था मैं बिल्कुल भी नहीं रह पा रहा था। मुझसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हो रहा था जब मैंने पायल की चूत में लंड को लगाया और अंदर की तरफ धकेलते हुए अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया तो मुझे अब अच्छा लगने लगा था और मेरे अंदर की गर्मी पूरी तरीके से बढ़ने लगी थी। मेरे अंदर की गर्मी अब इस कदर बढ़ चुकी थी कि मैं अपने आपको बिल्कुल भी रोक नहीं पा रहा था और पायल की चूत मे बड़े मजे से मार रहा था। पायल भी खुश थी मुझे इस बात की संतुष्टि थी कि कम से कम पायल मेरी बात को मान चुकी है और मैं उसे मनाने मे कामयाब रहा।

मैंने पायल को कहा देखो पायल मुझसे जो भी हुआ उसके लिए मैं तुमसे माफी मांगता हूं। पायल कहने लगी अभी तुम मेरी चूत का मजा लेते रहो मैंने पायल को कहा मैं तुम्हारी चूत के मजे बडे अच्छे से ले रहा हूं। पायल कहने लगी अच्छा तो मुझे भी बहुत लग रहा है और मैंने अपने पैरों को भी खोला हुआ है। पायल ने अपने पैरों को खोल था मैंने उसको इतनी तेजी से चोदना शुरु किया कि उसका शरीर हिलने लगा। जैसे ही मैंने उसकी चूत में अपने वीर्य को गिराया तो वह मुझसे कहने लगी मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं उसने मुझे किस किया और हम दोनों के बीच के सारे गिले-शिकवे दूर हो गए। हम दोनों अपने रिश्ते को अच्छे से चलाने लगे जैसे कि पहले हम दोनों एक दूसरे के साथ रहा करते थे।


Comments are closed.


Spread the love

One thought on “प्यार दोबारा शुरु हो गया”

Comments are closed.