उसने बहुत देर तक मेरे लंड को चूसा

Spread the love

[ A+ ] /[ A- ]

Font Size » Large | Small


Antarvasna, hindi sex stories:

Usne bahut der tak mere lund ko chusa मैं मुंबई की एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करता हूं मुझे वहां पर नौकरी करते हुए करीब एक वर्ष हुआ है। इस एक वर्ष में मेरी दोस्ती काफी लोगों से होने लगी है और जब मेरे ऑफिस के ही एक दोस्त ने मुझे राधिका से मिलवाया मुझे बहुत अच्छा लगा। जब मेरी मुलाकात राधिका से पहली बार हुई। हम दोनों की इतनी ज्यादा पहचान नहीं थी लेकिन उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को मिलने लगे थे। हम दोनों एक दूसरे को पसंद भी करने लगे थे अब हम दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे थे और एक दूसरे के साथ हम दोनों ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश किया करते थे। मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता था राधिका को भी बहुत ज्यादा अच्छा लगता था। जब भी हम दोनों साथ में होते और एक दूसरे के साथ हम लोग समय बिताया करते थे हमे अच्छा लगता था। एक दिन राधिका ने मुझे बताया वह कुछ दिनों के लिए अपने मामा जी के घर जा रही है। मैंने राधिका को कहा तुम वहां से वापस कब लौटोगी?

वह कहने लगी वहां मुझे कुछ दिन लग जाएंगे। राधिका कुछ दिनों के लिए अपने मामा जी के घर जाने वाली थी वह जब अपने मामा जी के घर चली गई तो उसके काफी दिनों तक मेरी उससे कोई भी बात नहीं हो पाई थी। अभी भी राधिका वहां से लौटी नहीं थी राधिका की पूरी फैमिली उसके मामा जी के घर गई हुई थी। वह लोग अभी भी वहां से वापस नहीं लौटे थे। मैंने राधिका से बात करने की कोशिश की थी उससे मेरी बात फोन पर भी नहीं पाई थी इसी बीच मुझे भी अपने ऑफिस के काम के सिलसिले में कुछ दिनों के लिए बेंगलुरु जाना था। मैं बेंगलुरु चला गया था उसके बाद मुझे वहां से लौटने में काफी समय लगा और मेरी इस बीच राधिका से कोई बात हो नहीं पाई थी। राधिका से जब मेरी मुलाकात हुई तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था उससे मैं काफी दिनों के बाद में मिला था।

loading...

जब मैं राधिका से मिला था मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगा था राधिका से मिलकर में बहुत ही ज्यादा खुश था। राधिका और मेरे रिलेशन को काफी ज्यादा समय भी हो चुका था हम दोनों चाहते थे अब हम दोनों एक दूसरे से शादी के बंधन में बंध जाएं। मैंने राधिका की फैमिली से इस बारे में बात की उन लोगों को कोई एतराज नहीं था राधिका और मैं एक दूसरे से शादी करने के लिए तैयार थे हम दोनों की शादी हो चुकी थी। जब हम दोनों की शादी हो गई उसके बाद मैं और राधिका एक दूसरे के साथ में ज्यादा से ज्यादा समय बिताया करते थे। मैं राधिका को टाइम देने की कोशिश करता जिससे कि राधिका को भी बहुत ज्यादा अच्छा लगता था और मुझे भी काफी अच्छा लगता। एक दिन मैं और राधिका एक दूसरे के साथ में थे उस दिन राधिका ने मुझे कहा मुझे कुछ दिनों के लिए पापा मम्मी से मिलकर आना है।

मैंने राधिका की बात मान ली और कहा कल हम दोनों ही पापा मम्मी से मिलने के लिए चलेंगे हमारी शादी को अभी ज्यादा समय नहीं हुआ था लेकिन हम दोनों एक दूसरे के साथ काफी ज्यादा समय बिताया करते थे। अब मैं और राधिका उन लोगो से मिलने के लिए चले गए थे मैंने अपने ऑफिस से कुछ दिनों के लिए छुट्टी ले ली थी। मैं दो दिनों तक राधिका के साथ ही रहा और उसके बाद फिर मैं वापस लौट आया था। मैं वापस लौट आया था लेकिन राधिका अपने घर पर ही थी और राधिका वहां पर करीब 10 दिनों तक रही। 10 दिनों के बाद वह जब वापस घर लौटी तो उसने मुझे कहा मैं अब जॉब करना चाहती हूं। मैंने राधिका को कहा लेकिन तुम्हें जॉब करने की क्या जरूरत है। राधिका मेरी बात कहां मानने वाली थी वह जॉब करने चाहती थी। जब राधिका ने मुझसे यह बात कही तो मैंने उसे मना किया था परंतु वह मेरी बात कहां मानने वाली थी और उसके कुछ दिनों के बाद ही उसने एक कंपनी में इंटरव्यू दिया वहां पर उसका सिलेक्शन भी हो गया था। अब राधिका जॉब करने लगी थी जब राधिका जॉब करने लगी थी तो हम दोनों को एक दूसरे के साथ में समय बिताने का मौका कम ही मिल पाता था क्योंकि राधिका भी अपने ऑफिस से जब घर लौटा करती तो उसे घर लौटने में काफी समय हो जाया करता था और मुझे भी ऑफिस से लौटने मे देर हो जाया करती थी।

हम दोनों एक दूसरे के साथ में समय नहीं बिता पाते थे हम दोनों को एक दूसरे के साथ टाइम बिताने का मौका कम ही मिला करता था लेकिन जब भी हम दोनों की छुट्टी होती तो उस दिन हम दोनों साथ में ही समय बिताया करते थे। जब हम दोनो एक दूसरे के साथ होते तो हम दोनों हम दोनों को बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता था हम दोनों का रिलेशन में बहुत ही ज्यादा मजबूती है। मुझे भी इस बात की बड़ी खुशी है राधिका मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करती है और मैं भी राधिका से बहुत ज्यादा प्यार करता हूं जिस तरीके से हम दोनों एक दूसरे के साथ में होते हैं उस से हम दोनों को अच्छा लगता है हालांकि हम दोनों एक दूसरे के लिए समय कम ही निकाल पाते हैं क्योंकि राधिका भी अपनी जॉब के चलते बिजी रहती है और मैं भी अपनी जॉब के चलते बिजी ही रहता हूं। काफी दिनो बाद हम दोनो को समय मिला था उस दिन हम दोनो घर पर थे। मैं और राधिका एक दूसरे से बातें कर रहे थे मेरा मन उस दिन राधिका के साथ सेक्स करने का हो रहा था। मैंने राधिका से कहा काफी दिन हो गए हैं हम लोगों ने सेक्स भी नहीं किया है। वह भी मेरे साथ सेक्स करने को तैयार थी।

loading...

हम दोनों ने काफी दिनों से सेक्स नहीं किया था राधिका भी मेरे लिए तड़प रही थी। मैने राधिका को अपनी बाहों में ले लिया था मैं उसके होठों को चूमने लगा था राधिका को मजा आने लगा था मैंने उसे बेड पर लेटा दिया था वह पूरी तरीके से गरम होने लगी थी। राधिका की गर्मी बढ़ती ही जा रही थी और मेरी गर्मी भी बढ़ने लगी थी। मैं राधिका की गर्मी को झेल नहीं पा रहा था और राधिका भी मेरी गर्मी को झेल नहीं पा रही थी। हम दोनों गरम हो चुके थे हम दोनो ने ही एक दूसरे के साथ सेक्स करने का मन बना लिया था। राधिका ने पजामे से मेरे लंड को बाहर निकालते हुए मेरे मोटे लंड को चूसना शुरु किया मुझे मजा आने लगा था। राधिका को मेरे लंड को चूसने मे मजा आ रहा था वह मेरे लंड को गले तक उतार चुकी थी। वह मेरे लंड को अच्छे से चूसने लगी थी मुझे बहुत ही ज्यादा मजे मे आ रहा था जब वह मेरे लंड को सकिंग कर रही थी। राधिका ने मेरे लंड को गले तक ले लिया था वह मेरे लंड को सकिंग करने लगी थी मुझे मजा आ रहा था। मेरे लंड से पानी भी निकल आया था राधिका को बड़ा मजा आ रहा था वह मेरी गर्मी को बढ़ाए जा रही थी।

राधिका ने बहुत देर तक मेरे लंड को चूसा था। मैंने राधिका से कहा तुम अपने बदन से कपड़े उतार दो, राधिका ने अपने कपड़े उतार दिए थे वह मेरे सामने अब नंगी लेटी हुई थी। राधिका का गोरा बदन मेरे सामने था मैं अब उसके बदन को ऊपर से लेकर नीचे तक महसूस करने लगा था। मैंने काफी देर तक उसके बदन को महसूस किया मुझे काफी गर्मी का एहसास होने लगा था। मैंने अपने लंड को राधिका की योनि पर टच किया मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था और उसको भी बड़ा अच्छा लग रहा था। हम दोनों एक दूसरे का साथ अच्छे से दे रहे थे हम दोनों को मजा आने लगा था और राधिका को भी बड़ा मजा आ रहा था। राधिका पूरी तरीके से गर्म हो चुकी थी वह अपने आपको बिल्कुल भी रोक नहीं पा रही थी। जब मैंने राधिका की योनि मे अपने लंड को घुसाया तो वह पूरी तरीके से गर्म होने लगी थी और मुझे कहने लगी मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है। हम दोनों की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी मेरा लंड राधिका की योनि के अंदर तक चला गया था वह जोर से सिसकारियां लेने लगी थी। मुझे अच्छा लग रहा था मै राधिका को तेजी से धक्के मारता जा रहा था। मैं उसे बड़ी तेजी से धक्के मार रहा था वह बहुत ज्यादा खुश थी जिस तरीके से मैं उसे चोद रहा था।

राधिका के चेहरे पर खुशी थी वह मुझे कहने लगी तुम मुझे और तेजी से धक्के मारते जाओ। मैं राधिका को बड़ी तेज गति से धक्के मार रहा था मैंने काफी देर तक उसे चोदा। जब मैंने उसके पैंरो को कंधे पर रखकर उसे चोदा तो मुझे एहसास होने लगा था मेरा वीर्य बाहर की तरफ आने वाला है। मैंने राधिका की चूत मे माल गिरा दिया था और राधिका की योनि में मेरा माल गिरते ही वह खुश हो गई। राधिका को मजा आ गया था वह बहुत खुश थी। कुछ देर तक लेटने के बाद मेरा मन राधिका को चोदने का हुआ और मैंने राधिका की चूत मे अपने लंड को घुसा दिया था। राधिका की चूत मे मेरा लंड घुसा चुका था मेरा लंड उसकी योनि में अंदर तक चला गया था। मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जब मैं और राधिका एक दूसरे का साथ दे रहे थे। मुझे राधिका को चोदने मे मजा आ रहा था हम दोनों बहुत ज्यादा गरम हो चुके थे।श मेरी इच्छा भी पूरी हो गई थी। मेरा वीर्य राधिका की चूत में गिरा तो वह खुश थी।


Comments are closed.


Spread the love