मेरा माल सुमोना के स्तनों पर गिराया

Spread the love

[ A+ ] /[ A- ]

Font Size » Large | Small


Antarvasna, kamukta:

Mera maal sumona ke stanon par giraya मैं सुबह के 9:00 बजे अपने घर से दफ्तर के लिए निकला था। मैं जब बस स्टॉप पर पहुंचा तो वहां पर काफी ज्यादा भीड़ थ। सुबह के वक्त भीड रहा करती है थोड़ी ही देर में बस आ गई। जब मैं बस में चढ़ा तो मुझे बैठने के लिए सीट नहीं मिल पाई थी। जब मैं बस मे चढा तो कंडक्टर मेरे पास आकर मुझे कहने लगा भाई साहब टिकट ले लीजिए। मैंने भी टिकट ले लिया हर रोज की तरह मैं अपने ऑफिस 10:00 बजे पहुंच चुका था। मैं अपने ऑफिस पहुंचे तो मुझे ऑफिस में काफी ज्यादा काम था। शाम के वक्त मुझे घर लौटने में देरी हो गई थी मैं जब घर वापस लौट तो उस दिन पापा और मम्मी अपने किसी दोस्त के घर गए हुए थे। मैंने पापा से फोन पर बात की तो उन्होंने कहा हम लोग थोड़ी देर बाद घर आ जाएंगे।

जब वह लोग घर आए तो मैंने उनसे पूछा आप लोग कहां गए थे। उन्होंने मुझे बताया वह लोग अपने एक करीबी दोस्त के घर गए हुए थे हालांकि मैं उन्हें पहचानता नहीं था लेकिन पापा हमेशा ही उनका जिक्र करते रहते हैं। अगले दिन मैं अपने ऑफिस के लिए घर से निकला। जब मैं अपने ऑफिस के लिए घर से निकला तो हर रोज की तरह मैं सुबह के 9:00 बजे घर से निकला। मुझे कुछ दिनों से एक लड़की अक्सर दिखाई देती लेकिन उससे मैं बात नहीं कर पाया था परंतु उस दिन मैंने उससे बात की तो मुझे काफी अच्छा लगा। उस दिन मुझे उस लड़की का नाम पता चला उसका नाम सुमोना है। सुमोना से पहली बार ही मेरी बात हुई थी मुझे उससे बात कर के काफी अच्छा लगा। हम दोनों को एक दूसरे से बात करके बहुत अच्छा लगा और हम लोगों एक दूसरे से अक्सर बातें किया करते क्योंकि सुमोना मुझे हमेशा ही सुबह के वक्त दिखाई देती और जब भी वह मुझे देखती तो हम लोग एक दूसरे से बातें किया करते।

loading...

हम दोनों की मुलाकात को हुए करीब एक महीना हो चुका था इस एक महीने में हम दोनों काफी अच्छे दोस्त बन चुके थे। एक दिन सुमोना का जन्मदिन था उस दिन उसने मुझे कहा आज मेरा जन्मदिन है मैंने सुमाना को उसके जन्मदिन की बधाई दी। सुमोना ने मुझे कहा मैं चाहती हूं तुम मेरे  बर्थडे पार्टी में आओ। मैंने सुमोना से कहा क्यों नहीं मैं जरूर आऊंगा। सुमोना को मुझ पर काफी भरोसा था और जब मैं उसके जन्मदिन की पार्टी में गया तो वहां पर उसने मुझे अपने दोस्तों से मिलवाया। सुमोना के दोस्तों से मिलकर मुझे अच्छा लगा। एक महीने के दौरान जितना भी मैं सुमोना को समझ पाया था उससे मुझे सुमोना बहुत ही अच्छी लगी और हम दोनों एक दूसरे के साथ ज्यादा समय बिताने की कोशिश करने लगे थे। मैं सुमोना के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश किया करता तो उसे भी अच्छा लगता लेकिन मुझे क्या मालूम था कि हम दोनों की बढ़ती हुई नज़दीकियां हम दोनों के बीच प्यार पैदा कर देगी।

अब हम दोनों के बीच प्यार काफी ज्यादा बढने लगा था और मुझे भी इस बात की बड़ी खुशी थी कि मैं और सुमोना एक दूसरे के साथ रिलेशन में है। मैंने सुमोना से अपने प्यार का इजहार कर दिया था जब मैंने उस से अपने प्यार का इजहार किया तो वह भी मेरे प्रपोज को मना ना कर सकी और हम दोनों का रिलेशन बहुत ही अच्छे से चलने लगा था। मैं और सुमोना एक दूसरे के साथ ज्यादा समय बिताने की कोशिश किया करते। सुमोना और मेरे कुछ सपने थे जब भी हम दोनों एक दूसरे के साथ होते तो हमें बहुत ही अच्छा लगता है और अक्सर हम लोग अपने फ्यूचर को लेकर बात किया करते। जब भी हम दोनों अपने फ्यूचर को लेकर बात करते तो सुमोना काफी सीरियस नजर आती है। मुझे इस बात की बड़ी खुशी है कि मैं और सुमोना एक दूसरे के साथ जिस तरीके से रिलेशन में है उससे हम दोनों को बहुत ही अच्छा लगता है और मैं सुमोना को बहुत ही अच्छे तरीके से समझता हूं। मुझे बहुत अच्छा लगता है जिस तरीके से मै और सुमोना एक दूसरे के साथ होते हैं और जब भी मुझे कोई परेशानी होती है तो मैं अक्सर सुमोना से अपने दिल की बात शेयर किया करता हूं। सुमोना को भी बहुत अच्छा लगता है जब भी हम दोनों एक दूसरे से अपनी बातें शेयर किया करते हैं।

सुमोना के परिवार वाले और मेरे परिवार वाले जब एक दूसरे को पहली बार मिले तो हम लोगों के रिश्ते की बात उन्होंने की क्योंकि सुमोना के परिवार वाले चाहते थे मैं और सुमोन शादी कर ले। मैंने सुमोना से कहा मैं अपने परिवार से तुम्हें मिलाना चाहता हूं। मैंने जब सुमोना  के पापा से हमारे रिलेशन के बारे में बात की अब वह मना ना कर सके। पापा भी हम दोनों के रिश्ते के लिए मान चुके थे इसलिए जब मेरी फैमिली सुमोना की फैमिली से पहली बार मिले तो सब लोग बहुत ही खुश थे। सुमोना भी काफी खुश थी हम दोनों के परिवार वालों ने हम दोनों के रिश्ते को स्वीकार कर लिया है यह अब हम दोनों के लिए बहुत ही अच्छा था जिस तरीके से सुमोन और मैं एक दूसरे के साथ थे। अब हम दोनों की इंगेजमेंट भी होने वाली थी जब हम दोनों की इंगेजमेंट हुई तो उस वक्त हम दोनों के दोस्त हम दोनों की इंगेजमेंट में आए हुए थे और हम दोनों काफी खुश थे। जब हम दोनों की इंगेजमेंट हुई और अब हम दोनों एक दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश किया करते।

loading...

मुझे काफी अच्छा लगता है जब भी सुमोन और मैं एक दूसरे के साथ होते। हम लोगों ने काफी बार साथ में घूमने का प्लान बनाया लेकिन कभी भी हम दोनों साथ में घूमने ना जा सके। मैंने सोचा कि क्यों ना हम लोग शादी के बाद ही कहीं घूमने का प्लान बनाए तो सुमोना भी इस बात के लिए तैयार थी। सुमोना ने अपनी नौकरी भी छोड दी थी क्योंकि उसके पापा की तबीयत ठीक नहीं रहती थी इस वजह से वह अब अपने पापा की देखभाल कर रही है। सुमोना घर मे इकलौती है वह अपने घर और पापा की देखरेख अच्छे से कर रही है। एक दिन हम दोनो साथ मे थे और जिस तरह हम लोग उस दिन समय बीता रहे थे उस से मुझे  बहुत ही अच्छा लगा और सुमोना को भी काफी अच्छा लगा जब वह मेरे साथ उस दिन समय बिता रही थी। हम दोनों ने एक दूसरे के साथ काफी अच्छा टाइम भी बिताया अब मैं और सुमोना मूवी देखने के लिए जाना चाहते थे इसलिए हम दोनों मूवी देखने के लिए चले गए। जब हम लोग मूवी देख कर घर लौटे तो हम दोनों साथ में बैठे हुए थे और एक दूसरे से बातें कर रहे थे।

सुमोना उस दिन मेरे घर पर ही थी सुमोना मेरी गोद में बैठ गई। सुमोना की चूतडे मेरे लंड से टकरा रही थी। वह गरम हो रही थी और मेरा लंड भी कठोर होता जा रहा था। जब मैंने सुमोना के स्तनो को दबाया तो उसे मजा आ रहा था। सुमोना ने मुझे किस करना शुरू किया। वह अब इतनी तडप रही थी वह मेरे लंड को दबा रही थी। मैंने सुमोना के होंठो को बहुत देर तक चूमा। उसकी गर्मी बढ रही थी और मैं भी तडप रहा था। सुमोना ने मुझे कहा मुझे तुम्हारे लंड को चूसना हैं और वह मेरे लंड को हाथो मे लेकर हिलाती। जब वह ऐसा कर रही थी तो मैं भी रह नहीं पा रहा था और उसकी गर्मी भी बढ रही थी। सुमोना मेरे लंड को ऐसे चुस रही थी जैसे वह मेरे लंड से पानी निकाल कर ही छोडेगी। वह मेरे लंड को अच्छे से चूस रही थी। मेरा लंड पूरी तरह से गिला हो चुका था और सुमोना की चूत के अंदर जाने को बेताब था। मेरा लंड तडप रहा था और वह भी गरम हो चुकी थी। मैंने सुमोना के कपडो को खोला और उसकी चूत पर लंड को सटा दिया। उसकी चूत पर लंड सटाने के बाद उसकी चूत गिली हो चुकी थी।

अब उसकी चूत मेरे लंड को लेने के लिए तैयार थी। मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को लगाकर अंदर डाला वह जोर से चिल्लाई और बोली मेरी चूत मे दर्द हो रहा है। हम दोनो तडप रहे थे। मेरा लंड सुमोना की चूत के अंदर तक घुस चुका था और मैं बहुत खुश था जब उसकी चूत के अंदर बाहर मेरा लंड हो रहा था और वह मादक आवाज मे मुझे और भी गरम कर रही थी। मेरा लंड तेजी से उसकी चूत के अंदर बाहर हो रहा था। अब हम दोनो ही तडप रहे थे। मैं जिस तरह से उसकी चूत के अंदर बाहर लंड को करता उस से मुझे मजा आ रहा था। मैं बहुत ही ज्यादा खुश था और वह भी तडप रही थी। मैंने अब सुमोना के पैरो को ऊपर उठा लिया था और उसे अच्छे से चोदा तो वह खुश हो चुकी थी। मेरा माल मैंने सुमोना के स्तनो मे गिराया।

10 मिनट की गरम चुदाई का मजा मैंने जमकर लिया। उसके बाद हम दोनो एक दूसरे के साथ लेटे हुए थे। सुमोना ने मेरे ठंडे पडे लंड को दोबारा से गरम किया और मेरे लंड को चूसकर लाल कर दिया था। हम दोनो खुश हो चुके थे जिस तरह हम दोनो सेक्स के मजे ले रहे थे। अब हम दोनो रह ना सके और मैंने उसको घोडी बनाकर चोदना शुरु किया। मेरा लंड बडी ही आसानी से उसकी चूत के अंदर बाहर हो रहा था। हम दोनो बहुत खुश है जिस तरह हम दोनो सेक्स का मजा ले रहे थे। मेरा माल जब गिरने को था तो मैंने अपने माल को उसकी चूत के अंदर ही गिरा दिया था।


Comments are closed.


Spread the love