तुम चुदना चाहती थी लो चोद दिया

Spread the love

[ A+ ] /[ A- ]

Font Size » Large | Small


Kamukta, hindi sex stories, antarvasna:

Tum chudna chahti thi lo chod diya घर की चारदीवारी में कैद होने के बाद भी मैं हमेशा से ही सलमान के बारे में सोचती रहती थी मैं चाहती थी कि मैं कुछ करूं लेकिन अब्बू मुझ पर हमेशा ही गुस्सा हो जाया करते थे। वह मुझे कहते कि मैं नहीं चाहता हूं कि तुम कुछ काम करो अब्बू का हार्डवेयर का काम है और वह काफी वर्षों से यही काम करते आए हैं अब्बू और चाचा साथ में ही काम करते हैं। घर की बंदिशों की वजह से मुझे कई बार लगता कि मेरे अब्बू ने हीं जैसे मुझे घर की चारदीवारी में कैद कर के रख दिया है। मैं उड़ना चाहती थी और मैंने अपने भाई को भी इस बारे में बताया था लेकिन वह मुझे हमेशा ही कहते कि आबिदा देखो तुम एक लड़की हो और अब्बू तुम्हारी शादी के बारे में सोच रहे हैं। अब्बू मेरी शादी करवाना चाहते थे लेकिन मैं अभी से शादी नही करना चाहती थी मैं चाहती थी कि मैं अपने जीवन में कुछ करूं। मैंने 12वीं के बाद स्कूल छोड़ दिया था और उसके बाद मैं घर पर ही इतने वर्षों से रह रही थी।

सलमान हमारे घर पर अक्सर आया करता था जब भी मैं सलमान को देखती तो मेरे दिल में उसके लिए एक अलग ही भावना पैदा हो जाती थी। मैं सलमान को देखते ही ना जाने क्यों खुश हो जाया करती थी और सलमान भी मुझे चाहने लगा था लेकिन सलमान को मेरे अब्बू के बारे में पता था सलमान एक गरीब घर का लड़का है और उसे अपने बारे में पता था कि यदि वह मेरी तरफ आंख उठाकर भी देखेगा और यह बात यदि अब्बु और भाई को पता चली तो वह सलमान को छोड़ने वाले नहीं हैं। सलमान अब अब्बू के साथ ही दुकान में काम करने लगा था वह जब भी घर पर आता तो उसे देखकर मेरी दिल की धड़कने तेज हो जाया करती थी मैं सलमान को अपने दिल की बात कहना चाहती थी। सलमान मुझे जब भी देखता तो वह मुझे देखकर हमेशा मुस्कुरा दिया करता था लेकिन सलमान को अपने घर की स्थिति के बारे में पता था और वह अपने घर की स्थिति को देखते हुए मेरी तरफ कभी आंख उठाकर भी नहीं देखता था। उसे यह बात भी अच्छे से मालूम थी कि मैं उसे चाहती हूं लेकिन उसके बावजूद भी उसने कभी मेरी तरफ देखा नहीं।

loading...

एक दिन सलमान मुझे कहने लगा कि मुझे पानी पिला दो उस दिन घर पर कोई भी नहीं था और अब्बू थोड़ी देर बाद घर पर आ गए मैंने सलमान को पानी दिया, सलमान पानी पी रहा था कि अब्बू सलमान को बोलने लगे कि सलमान मैं कुछ दिनों के लिए बाहर जा रहा हूं तो तुम दुकान का काम संभाल लेना। अब्बू सलमान पर भरोसा करते थे इसी वजह से वह सलमान को कहने लगे कि मैं कुछ दिनों के लिए बाहर जा रहा हूं और तुम दुकान का काम संभाल लेना। अब्बु और भाई दोनों ही बाहर जा रहे थे उन्हें कोई जरूरी काम था इसलिए उन्होंने सलमान को दुकान संभालने के लिए कहा था। सलमान अक्सर हमारे घर पर ही खाना खाया करता था क्योंकि हमारी दुकान के पीछे ही हमारा घर है इसलिए सलमान हमारे घर पर ही खाना खाने के लिए आया करता था। मैं जब भी सलमान की आंखों में देखती तो मुझे बहुत अच्छा लगता था अब्बु और भाई अपने काम के सिलसिले में चले गए थे। सलमान दोपहर के वक्त खाना खाने के लिए घर पर आया मेरी अम्मी खाना बना रही थी और मैं भी उनकी मदद कर रही थी अम्मी ने कहा की बेटा सलमान को पानी पिला दो। मैंने अम्मी से कहा ठीक है अभी मैं सलमान को भी पानी दे देती हूं, मैंने सलमान को पानी दिया उस दिन मैं सलमान की आंखों में देख रही थी तो सलमान मुझे कुछ उदास नजर आ रहा था। मैंने सलमान को कहा सलमान तुम परेशान दिखाई दे रहे हो सलमान कहने लगा नहीं ऐसी कोई बात नहीं है मैंने सलमान को कहा तुम बताओ तो सही कि तुम्हारी परेशानी की वजह क्या है लेकिन सलमान ने मुझे कुछ नहीं बताया। अम्मी ने मुझे आवाज लगाया और कहने लगी कि सलमान को बोल दो कि वह खाना खा ले मैंने सलमान को कहा तो सलमान खाना खाने के लिए आ गया। सलमान अब खाना खा रहा था तो मैं उसकी तरफ देखे जा रही थी अम्मी भी सलमान को बहुत अच्छा मानती थी अम्मी सलमान को इसलिए भी अच्छा मानती थी कि वह बहुत ही ईमानदार और नेक इंसान है। शाम के वक्त मैं सलमान के लिए दुकान में चाय लेकर गई सलमान को मैंने चाय दी और सलमान से कहा सलमान तुम्हारे घर में सब खैरियत तो है।

सलमान कहने लगा हां घर में सब कुछ खैरियत है लेकिन सलमान की आंखों में साफ नजर आ रहा था कि वह काफी परेशान है उसने मुझे जब अपनी परेशानी की वजह बताई तो मैंने उसे कहा यदि तुम्हें पैसों की जरूरत है तो तुम अब्बू से क्यों नहीं कहते अब्बू तुम्हारी मदद जरूर करेंगे। सलमान मुझे कहने लगा कि मैं खान साहब को कहना तो चाहता हूं लेकिन मेरी हिम्मत ही नहीं होती मैं उनसे पैसे के लिए कैसे बात करूं। मैंने जब सलमान को कहा कि सलमान तुम्हें अब्बू से बात तो करनी हीं पड़ेगी तभी वह तुम्हारी मदद पैसों को लेकर कर पाएंगे तो सलमान कहने लगा कि हां जब वह आ जाएंगे तो मैं उनसे इस बार बात करूंगा। सलमान को कुछ पैसों की जरूरत थी क्योंकि उसकी बहन की शादी होने वाली थी और सलमान के घर में उसके अलावा कोई भी कमाने वाला नहीं है इसलिए सलमान चाहता था कि उसकी किसी प्रकार पैसे से मदद हो जाए। मैंने जब सलमान को कहा तो सलमान कहने लगा कि ठीक है मैं खान साहब से इस बार बात करूंगा मैं अब घर लौट आई थी। उस दिन सलमान को लगा कि उसे मेरे अब्बू से बात करनी चाहिए तो जब अब्बू अपने काम से लौट आए थे तो सलमान ने उनसे बात की अब्बू दिल के बहुत अच्छे हैं उन्होंने सलमान की तुरंत ही मदद कर दी।

जब सलमान मुझे मिला तो सलमान कहने लगा कि आबिदा मैं तुम्हारा शुक्रिया कैसे कहूं मैंने सलमान को कहा इसमें शुक्रिया कहने की क्या बात है तो सलमान मुझे कहने लगा कि तुम मुझे नहीं कहती कि अब्बू से बात करो तो शायद मैं उनसे कभी बात ही नहीं कर पाता लेकिन तुम्हारे कहने पर मैंने उनसे बात की और उन्होंने मेरी मदद भी कर दी। सलमान इस बात से बहुत खुश था और सलमान की बहन की शादी में हमारे परिवार से सब लोग गए थे सलमान उस दिन बहुत खुश था सलमान की अम्मी से मैं पहली बार ही मिली थी उनसे मिलकर मुझे अच्छा लगा। उन्होंने शायद मेरी आंखों में पढ़ लिया था कि मैं सलमान को प्यार करती हूं उन्होंने मेरे कान में बड़े ही धीरे से बोला क्या तुम सलमान को पसंद करती हो। मेरे पास उसका कोई भी जवाब नहीं था मैं उन्हें कुछ बोल ही नहीं पाई लेकिन उनकी बूढ़ी आंखों ने सब कुछ पहचान लिया था। सलमान को मैं दिल ही दिल चाहती थी लेकिन उससे मैं अपने दिल की बात को कभी बयां ना कर सकी थी। इस बात को काफी समय हो चुका था मैं सलमान को हमेशा ही अपना बनाना चाहती थी लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पा रहा था। जब अब्बू और भाई अपने काम के सिलसिले में गए हुए थे तो उस वक्त मैं घर पर अकेली थी अम्मी भी पड़ोस में गई हुई थी। सलमान दोपहर में खाना खाने के लिए घर पर आया मैंने उसके लिए खाना लगाया सलमान  खाना खा रहा था मैं उसकी तरफ देखे जा रही थी। मुझे सलमान की तरफ देखना अच्छा लग रहा था मैंने जब सलमान के हाथ को पकड़ा तो वह मेरी तरफ देखने लगा सलमान घबरा गया था सलमान को मैंने अपनी और खींचा और सलमान ने जब मेरे होठों पर अपने होठों को लगाया तो मुझे अच्छा लगा वह मेरे होठों को अच्छे से चूस रहा था। उसे बड़ा अच्छा लग रहा था मेरे अंदर इतने समय से जो आग लगी हुई थी वह अब बुझने वाली थी।

loading...

सलमान ने जब मेरे कपड़ों को उतारा और मेरे चूचियों को जब वह चूस रहा था तो मुझे अच्छा लग रहा था मेरी चूचियों को उसने अपने मुंह के अंदर ले लिया था और जिस तरह उसने मेरी चूचियों को अपने मुंह के अंदर लेकर रखा उससे मैं खुश हो गई थी और मेरी चूचियों से खून भी निकाल रहा था। मैंने उसे कहा मुझसे अब रहा नहीं जाएगा तो सलमान ने भी अपने लंड को बाहर निकाला उसका लंड देख मैं अपने आपको रोक ना सकी और मैंने जैसे ही उसके लंड को अपने मुंह के अंदर लेकर चूसना शुरू किया तो मेरे अंदर की गर्मी और भी बढ़ने लगी मेरी चूत पूरी तरीके से गीली हो चुकी थी। सलमान ने मेरी चूत पर उंगली को लगाया वह मेरी चूत को जिस प्रकार से चाट रहा था उससे मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रही थी मेरी चूत से लगातार पानी बाहर की तरफ निकल रहा था।

सलमान ने मेरी चूतड़ों को अपनी तरफ किया और मेरी चूत के अंदर अपनी उंगली को डाला तो मैं चिल्ला उठी लेकिन जैसे ही उसने अपने लंड को मेरी चूत के अंदर घुसाना शुरू किया तो मुझे बहुत दर्द होने लगा धीरे-धीरे उसका लंड मेरी चूत के अंदर जा चुका था। उसने मेरी चूतड़ों को कस कर पकड़ा हुआ था जिस प्रकार से वह मुझे धक्के मार रहा था उस से मै बहुत ज्यादा खुश हो गई थी मैं उससे अपनी गांड को लगातार मिला रही थी। उसने जब अपने लंड को मेरी चूत से बाहर निकाल कर मेरी गांड के अंदर डाल दिया तो मैंने सलमान को कहा तुमने यह क्या कर दिया? सलमान कहने लगा अभी तुम चुप रहो मुझे तुम्हारी गांड के मजे लेने दो मेरी गांड और चूत से खून निकल आया था जिस प्रकार वह मेरी मुलायम और कोमल गांड का मजा ले रहा था उससे मेरी गांड के अंदर से खून बाहर की तरफ आ रहा था मैं उससे अपनी गांड को मिला रही थी। मै ज्यादा समय तक उस से अपनी गांड को मिला न सकी क्योंकि उसके अंदर भी आग बाहर की तरफ निकलने लगी थी जब उसके माल को उसने मेरी गांड के अंदर गिराया तो उसने जब अपने लंड को बाहर निकाला तो वह मुझे कहने लगा तुम यही चाहती थी। मैंने उसे मुस्कुराकर जवाब दिया और कहा हां मैं यही चाहती थी।


Comments are closed.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *